हम खुशहाली में चीन और पाकिस्तान से भी पीछे

On

हम मुस्कुराना भूल गये हैं। खुश रहना हमारे बस की बात नहीं रही। हम किसी भी उत्सव पर अपने पड़ोसियों के साथ खुशियां नहीं बांटते। हम पड़ोसियों को छोड़िये अपने माता-पिता, भाई-बहनों आदि रिश्तेदारों को भी अब अपनी खुशी में शामिल करने…

क्यों शुरू किया ‘एजुकेशन मिरर’ न्यूज पाॅर्टल

On

जब से हिन्दुस्तान समाचार पत्र के ब्यूरो चीफ पद से इस्तीफा दिया, तब से सोच रहा था कि अब पत्रकारिता में नौकरी नहीं करनी। अगर पत्रकारिता करूंगा तो कुछ अपना काम ही शुरू करूंगा। बहुत दिनों से सोचते-सोचते विचार आया कि क्यों…