जब से हिन्दुस्तान समाचार पत्र के ब्यूरो चीफ पद से इस्तीफा दिया, तब से सोच रहा था कि अब पत्रकारिता में नौकरी नहीं करनी। अगर पत्रकारिता करूंगा तो कुछ अपना काम ही शुरू करूंगा। बहुत दिनों से सोचते-सोचते विचार आया कि क्यों न एक न्यूज पाॅर्टल शुरू किया जाये। न्यूज पेपर या पत्रिकाएं प्रकाशित करना जहां कठिन और बेहद खर्चीला हो गया है, उसकी पहुंच भी लोगों तक ज्यादा से ज्यादा नहीं हो पा रही। पहले से ही जो अखबार देश में प्रकाशित हो रहे हैं, वे ही नहीं बिक पा रहे तो मेरा छोटा-सा प्रयास कैसे बड़ा रूप ले पाएगा। इसलिए न्यूज पाॅर्टल ही चलाने का विचार मन में आया। सोशल मीडिया की पहुंच पूरी दुनिया में पिछले एक दशक में बहुत मजबूत हुई है। एक मोबाइल फोन ही आपको विश्वभर की खबरों से रूबरू करवा देता है। इस तरह चलते-फिरते या खाते-पीते लोग खबरों को हाथ में लिये हुए ज़रा-से मोबाइल में ही पलभर में देख लेते हैं। इसलिए भी विचार दृढ़ हुआ कि हां न्यूज पाॅर्टल चलाना ही ठीक रहेगा। लेकिन फिर सोचा कि कैसा न्यूज पाॅर्टल लेकर आया जाये? क्योंकि जो भी अखबार, पत्रिका, न्यूज टीवी चैनल मार्केट में चल रहे हैं, सब के सब एक जैसा ही माल परोस रहे हैं। जिससे लोग अब ऊबने लगे हैं। वही क्राइम, वही सामाजिक, वही राजनीतिक खबरें, सबमें एक जैसी ही। इसलिए विचार आया कि न्यूज पाॅर्टल औरों से और भीड़ से अलग होना जरूरी है ताकि देर से ही सही लेकिन बौद्धिक वर्ग में इसकी एक पहचान बने। पड़ताल की तो पाया कि शिक्षा और स्वास्थ्य दो आवश्यक चीजें ऐसी हैं जिनकी हर व्यक्ति को जरूरत है और जिस देश में इन दो चीजों को अधिक महत्व दिया जाता है वहां का नागरिक देश को प्रगति के पथ पर लेकर अवश्य चलता है। इसीलिए विचार और पुख्ता हुआ कि बस अब स्वास्थ्य और शिक्षा जगत से जुड़ी हुई खबरों, लेखों या जानकारियों को ही आपके साथ साझा किया जाए। इसीलिए, इसीलिए एजुकेशन मिरर नामक न्यूज पाॅर्टल अब आपके सामने है। आप इसे पढ़ें और देखें तो अवश्य ही, अपने विचारों व स्वस्थ प्रतिक्रियाओं से हमें अवगत भी जरूर करायें। हिन्दी में नहीं तो अंग्रेजी में भी आपके सुझाव सादर आमंत्रित हैं। यह न्यूज पाॅर्टल अंग्रेजी और हिन्दी दो भाषाओं में खबरें, लेख और जानकारियां प्रकाशित किया करेगा। इसका विस्तार हमने फेसबुक पर ‘एजुकेशन मिरर’ नाम से पेज बनाकर किया है। वाट्सअप पर स्कूल-काॅलेज नाम से एक ग्रुप बनाया है। इसमें और अन्य न्यूज ग्रुप में हम न्यूज पाॅर्टल की खबरों, लेखों आदि को साझा करते हैं। तो देर किस बात की, आप भी हमसे जुड़िये। हमें अपनी खबरें av.chetan2007@gmail.com पर भेज सकते हैं। सम्पर्क करने के लिए आप हमारे मोबाइल नंबर 8586053956 पर भी काॅल कर सकते हैं। यह नंबर वाट्सअप पर भी मौजूद है। आप सभी का खुले दिल से स्वागत है।
तो फिर कहिये वाह हुजूर!!

News Reporter

5 thoughts on “क्यों शुरू किया ‘एजुकेशन मिरर’ न्यूज पाॅर्टल

  1. बहुत सुंदर और प्रशंसनीय कदम बढानें के लिए साधुवाद बडे भाई साहब
    डाँ. नरेश कुमार “सागर”

  2. आपका यह कदम सराहनीय है। शिक्षा क्षेत्र से जुड़े होने के कारण आप इसकी समस्याओं को बारीकी से देख और समझ सकते हैं, और शिक्षा मित्रों के उत्साही मित्र भी सिद्ध हो सकते हैं। शिक्षा और लेखन जगत से जुड़ा हर व्यक्ति आपके इस कदम में आपके साथ है।

  3. महती उद्देश्य के साथ लिया गया सराहनीय कदम। बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *